गुरुवार, 21 मई 2015

ग्रेटर नॉएडा में आपका स्वागत है !!


आपने ग्रेटर नॉएडा के विषय में जरूर सुना होगा ! औधोगिक इकाइयों के साथ साथ शैक्षिक संस्थान भी यहां बहुत हैं जिनमें से अधिकांश इंजीनियरिंग एण्ड टेक्नोलॉजी तथा मैनेजमेंट के हैं।  नॉएडा -ग्रेटर नॉएडा में शिव नादर विश्वविद्यालय, एमिटी विश्वविद्यालय , गलगोटिया विश्वविद्यालय , शारदा विश्वविद्यालय , नॉएडा इंटरनेशनल यूनिवर्सिटी सही एक सरकारी यूनिवर्सिटी गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय तथा एक मेडिकल यूनिवर्सिटी भी है।  दर्जनों इंजीनियरिंग कॉलेज हैं।  इस ग्रेटर नॉएडा में प्रवेश के कई रास्ते हैं - एक दादरी -सूरजपुर होते हुए है।  दूसरा नॉएडा -भंगेल सूरजपुर होते  हुए , तीसरा नॉएडा -ग्रेटर नॉएडा हाइवे से परी चौक होते हुए और एक है गाज़ियाबाद से यामहा कंपनी होते हुए सूरजपुर गोल चक्कर से।  इसी ग्रेटर नॉएडा के एक कोने में मैं अपनी रोजी रोटी कमाता हूँ और गाज़ियाबाद से रोज़ आता जाता हूँ।  इस रास्ते पर सूरजपुर एक क़स्बा पड़ता है जिसके पास एक चौक है जिसे घंटा चौक कहते हैं।  घंटा चौक इसलिए क्योंकि यहां मायावती के मुख्यमंत्री काल से एक बड़ा सा घण्टा लगाया गया था और इस घंटा के साथ ही बहुत सी पत्थरों की मूर्तियों को लगाया गया था।  कहते ​हैं इस खेल में बड़ा खेल  हुआ था और मायावती के स्थान पर अखिलेश सरकार आ गयी ! लेकिन खेल ज्यों का त्यों बना रहा लेकिन कुछ न हुआ न होता है।  हमें केवल पत्थर की मूर्तियां दिखानी हैं आपको !


आइये मूर्तियां मेरा मतलब मूर्तियों की तस्वीर देखते हैं :




















































































फिर मिलते हैं एक नयी पोस्ट के साथ !!
एक टिप्पणी भेजें