शुक्रवार, 3 जुलाई 2015

Japanese Language , Lesson-3

​इस ब्लॉग पोस्ट को शुरू से पढ़ने  के लिए कृपया यहाँ क्लिक करें !

​जापानी भाषा में पांच स्क्रिप्ट होती हैं। हिरागाना , काताकाना , कांजी , सूजी और रोमा जी। ज्यादातर हीरागना उपयोग में लाई जाती है। ​काताकाना लिपि में विदेशी लोगों और देशों के नाम लिखे जाते हैं , जैसे अगर मुझे अपना नाम लिखना हो या आपको अपना नाम लिखना हो तो आपको काताकाना में ही लिखना होगा। कांजी वहां की सबसे प्रचलित पुरानी लिपि है और सूजी लिपि में हम रोमन भाषा के अंकों या शब्दों को ज्यूँ का त्यों प्रयोग करते हैं जैसे यदि जापानी भाषा के पैराग्राफ में अंग्रेजी के 1 , 2 ,3 लिखे हैं तो वो सूजी लिपि कही जायेगी और अगर पैराग्राफ में जापानी अंकों जैसे ईची , नी , सान,  शी … का उपयोग किया गया है तो वो रोमा जी ( rooma ji ) लिपि कहलाएगी। जापानी भाषा वर्तमान में हिंदी या अंग्रेजी की तरह बाएं से दायें लिखी जाती है और ऐसे ही पढ़ी जाती है। हाँ , एक बात का विशेष ध्यान रखियेगा , जब हम किसी का नाम पुकारते हैं तो उसके साथ सान शब्द का उपयोग जरूर करते हैं।
जैसे :

अगर आप मुझे पुकारते हैं तो बस पहला नाम लीजिये योगी + सान = योगी सान। यानि आप मुझे योगी सान कहेंगे।

सान का एक और मतलब होता है जापानी भाषा में ? हाँ ! तीन ! सान मतलब तीन ! लेकिन यहां उससे कुछ भी लेना देना नहीं है ! बच्चो के नाम के साथ आप प्यार से चान (chan ) लगा सकते हैं

जैसे अगर मैं अपने बच्चे का नाम लूँ तो वो हो जाएगा , पारितोष + चान = पारितोष चान।

want to read it from starting ? click here .

There are five scripts in japanese language , these are Hiragana , Katakana , Kanji, Suuji and Roomaji . all the foreigner names are written in Katakana script whether they are peoples or countries. Mostly Hiragana script is used in Japanese language as a common script. Kanji is the oldest script of japanese language . In Suuji , there are Roman numbers like 1,2, 3 in japanese language paragraphs and if there are japanses numbers like ichi , ni , saan , shi ...... then it is known roomaji script. japanese language is written like Hindi or English from left to right and the same way of reading.

Here in japanese culture you are required to call a person with saan after his/ her primary name . as my name is Yogi saraswat so if you want to call me then

Yogi + saan = Yogi Saan.

so don't be confuse that in Japanese saan means "three" . This is language and a word can have other meanings also.

You may call a child with "chan" . for example If I call my son Paritosh then I should call him as :

Paritosh + chan = Paritosh Chan .


 ​​अभी आज इतना सीखिये फिर और भी शब्द आएंगे !

Learn these letters now , more letters are waiting !!













                         

                                                                                                        ​पढ़ाई आगे जारी रहेगी :Continue....

  
एक टिप्पणी भेजें